X Close
X

कश्‍मीर पर एकबार फिर पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री की बेइज्‍जती


04-pakistan-flag32-600

इस्लामाबाद। अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश में जुटे पाकिस्तान में एक बार फिर झटका लगा है। कश्मीर का मुद्दा ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) के विदेश मंत्रियों की बैठक में अजेंडा में नहीं है।

इसके साथ ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की भी किरकिरी हुई है जिनके ऑफिस ने बुधवार को बयान जारी कर ऐलान कर डाला था कि वह मुस्लिमों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने वाले हैं जिनमें जम्मू-कश्मीर विवाद शामिल है।

अजेंडे में नहीं कश्मीर
बाद में OIC ने आधिकारिक बयान जारी किए जिनमें कश्मीर मुद्दे का कोई जिक्र ही नहीं था। OIC के सेक्रटरी जनरल यूरुफ अल-ओथाईमीन के हवाले से कहा गया है कि विदेश मंत्रियों की बैठक ‘आतंकवाद के खिलाफ शांति और विकास के लिए एकजुट’।

इसमें यह भी कहा गया है, ‘फिलिस्तीन, हिंसा के खिलाफ जंग, कट्टरवाद और आतंकवाद, इस्लामोफोबिया और धर्म के अपमान के अलावा काउंसिल मुस्लिम अल्पसंख्यकों और गैर-सदस्य देशों के हालात, इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में रोहिंग्याओं के लिए फंड जुटाना जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी।’

पाकिस्तान की किरकिरी
वहीं, पाक विदेश मंत्राल के बयान में कहा गया था कि कुरैशी पिछले साल अगस्त 2019 में आर्टिकल 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर में ‘खराब मानवाधिकार और मानवीय हालात’ पर चर्चा करेंगे। गौरतलब है कि पाकिस्तान के सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के साथ पहले से रिश्ते तनावपूर्ण हैं। यहां तक कि सऊदी अरब पाकिस्तान को दिया 3 अरब डॉलर का कर्ज वापस मांग चुका है। वहीं, UAE ने पाकिस्तान समेत कई देशों के नागरिकों को वीजा देना बंद रोक दिया है।

(LEGEND NEWS)
Legend News