X Close
X

740 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी में शिविंदर सिंह सहित चार आरोपी गिरफ्तार


नई दिल्‍ली। दवा कंपनी रैनबैक्सी और फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। शिविंदर के अलावा कवि अरोड़ा, सुनील गोधवानी और अनिल सक्सेना भी गिरफ्तार किए गए हैं। रेलिगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड की शिकायत पर ये कार्यवाही की। शिविंदर रेलिगेयर फिनवेस्ट के पूर्व प्रमोटर हैं। बाकी लोग भी कंपनी से जुड़े हुए थे। शिकायत के मुताबिक शिविंदर सिंह और अन्य लोगों पर 740 करोड़ रुपए का फंड डायवर्ट करने के आरोप हैं।
इस मामले में शिविंदर के भाई मलविंदर भी आरोपी हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मलविंदर की तलाश की जा रही है। रेलिगेयर फिनवेस्ट ने दिसंबर में शिविंदर और मलविंदर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।
शिविंदर-मलविंदर फोर्टिस विवाद में भी आरोपी
साल 2016 में दोनों भाइयों ने फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में 92वें नंबर पर जगह बनाई थी। उस वक्त दोनों की संपत्ति 8,864 करोड़ रुपए थी। पिछले साल शिविंदर और मलविंदर सिंह पर आरोप लगे कि उन्होंने फोर्टिस के बोर्ड के अप्रूवल के बिना 500 करोड़ रुपए निकाल लिए। फरवरी 2018 तक मलविंदर फोर्टिस के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन और शिविंदर नॉन-एग्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन थे। फंड डायवर्ट करने के आरोपों के बाद दोनों को बोर्ड से निकाल दिया गया। शिविंदर और मलविंदर सिंह ने 1996 में फोर्टिस हेल्थकेयर की शुरुआत की थी।
रैनबैक्सी की डील भी विवादित रही
जापान की दवा कंपनी दाइची सैंक्यो ने 2008 में मलविंदर-शिविंदर सिंह से रैनबैक्सी को खरीदा था। बाद में दाइची ने आरोप लगाया कि सिंह बंधुओं ने रैनबैक्सी के बारे में अहम जानकारियां छिपाईं। उसने सिंगापुर ट्रिब्यूनल में शिकायत की थी।
-एजेंसियां

The post 740 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी में शिविंदर सिंह सहित चार आरोपी गिरफ्तार appeared first on Legend News.

Legend News