X Close
X

World Mental Health Day आज: थीम है ‘सुसाइड प्रिवेंशन’


10 अक्टूबर को हर साल दुनियाभर में World Mental Health Day मनाया जाता है। इसका मकसद है Mental Health यानी मानसिक स्वास्थ्य को लेकर लोगों के बीच जागरुकता फैलाना ताकि दुनियाभर में लोग सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं, बल्कि Mental Health के मुद्दे को भी गंभीरता से लें और उसके प्रति सजग और सतर्क बनें।
अगर किसी व्यक्ति को किसी तरह की मानसिक दिक्कत होती है तो उसे नजरअंदाज करने की बजाए उसके बारे में बात की जाए और मेंटल हेल्थकेयर को भी उतनी ही अहमियत दी जाए जितनी फिजिकल हेल्थ को दी जाती है।
इस साल वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे का थीम है- ‘सुसाइड प्रिवेंशन यानी आत्महत्या की रोकथाम’।
हर 40 सेकंड में 1 व्यक्ति आत्महत्या करता है
WHO के आंकड़ों की मानें तो दुनियाभर में हर 40 सेकंड में 1 व्यक्ति आत्महत्या करता है। इस हिसाब से आत्महत्या की वजह से हर साल करीब 8 लाख लोगों की मौत हो जाती है। आत्महत्या एक ऐसी स्थिति है जो बेहद गंभीर और दुखद है लेकिन इसे रोका जा सकता है क्योंकि आत्महत्या अपने आप में कोई मानसिक बीमारी नहीं है बल्कि इसके पीछे कई वजहें जुड़ी होती हैं। मानसिक बीमारी, डिप्रेशन, एंग्जाइटी बहुत सारी वजहें होती हैं जो इंसान को आत्महत्या करने के लिए मजबूर करती हैं लिहाजा वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे के मौके पर आत्महत्या को कैसे रोका जाए इस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन का फोकस है।
युवाओं के बीच बढ़ रही मानसिक समस्याएं
अब तक हो चुकी ढेरों रिसर्च और स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि युवाओं के बीच मानसिक बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं, खासकर 35 साल के कम उम्र के युवाओं के बीच। मानसिक बीमारियों को रोका जा सकता है लेकिन सिर्फ तभी जब इस पर ध्यान दिया जाए। ज्यादातर लोग अपने शरीर को लेकर पूरी तरह से सजग रहते हैं शारीरिक स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखते हैं लेकिन दिमाग को नजरअंदाज कर देते हैं।
मानसिक बीमारियों की वजह
अगर मानसिक स्वास्थ्य पर भी पूरा ध्यान दिया जाए तो मानसिक बीमारियों को काफी हद तक रोका जा सकता है। काम से जुड़ा स्ट्रेस, रिलेशनशिप का स्ट्रेस, पैसों से जुड़ा तनाव, इमोशन से जुड़ा तनाव, ऐंग्जाइटी यानी बेचैनी आदि कई फैक्टर्स हैं जो इंसान को मानसिक रूप से बीमार बनाते हैं। साइकायट्रिस्ट डॉ कृष्णमूर्ति कहते हैं कि मेडिटेशन के जरिए स्ट्रेस और तनाव को कम किया जा सकता है।
मेंटल हेल्थ बनाए रखने के 6 तरीके
– बैलेंस्ड डायट का सेवन करें जिसमें फाइबर, प्रोटीन, हेल्दी फैट, कार्बोहाइड्रेट, विटमिन्स और मिनरल्स सबकुछ हो। डिप्रेशन जैसी कई समस्याओं को दूर करने में मददगार है हेल्दी फूड।
– फिजिकल ऐक्टिविटी और एक्सर्साइज को डेली रूटीन का हिस्सा बनाएं। खुद को शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रखने का यह सबसे अच्छा और आसान तरीका है।
– हेल्दी बॉडी और माइंड के लिए यह बेहद जरूरी है कि आप रात में कम से कम 6-7 घंटे की अच्छी और चैन की नींद लें।
– अगर लाइफ में सबकुछ आपके मन और प्लान के हिसाब से नहीं हो रहा तब भी अपनी सोच को सकारात्मक बनाए रखें।
– हर साल एक बार मेंटल हेल्थ प्रफेशनल से भी अपना चेकअप करवाएं। जरूरी नहीं कि हमेशा बीमार पड़ने पर ही डॉक्टर के पास पहुंचा जाए।
-एजेंसियां

The post World Mental Health Day आज: थीम है ‘सुसाइड प्रिवेंशन’ appeared first on Legend News.

Legend News